Header Ads

क्या आप इस विचार से सहमत हैं की मशीनीकरण बेरोजगारी की ओर ले जाता है


वस्तु और सेवाओं के उत्पादन की प्रक्रिया में जब मशीन का उपयोग होता है तो निश्चय ही शर्म का विस्थापन होता है मशीनों की छमता मानक श्रम की क्षमता से अधिक होती है पता जहां मशीन का उपयोग होता है उत्पादन की प्रक्रिया वहां पर ज्यादा होता है मनुष्य की तुलना में वहां श्रमिकों चटनी के साथ साथ आधुनिक तकनीकी का विकास के साथ ही अति उच्च गुणवत्ता एवं क्षमता युक्त मशीनों का निर्णय संभव हुआ है यह मशीनें अपेक्षाकृत बहुत कम समय में एवं कम लागत में भारी पैमाने पर उत्पादन की क्षमता रखता है इस प्रकार की मशीनें जब उत्पादन प्रक्रिया में अपनाई जाती है तो रोशनी को कितनी होती है





विशेषकर कुशल श्रमिक किडनी की समस्या बड़े पैमाने पर उत्पन्न होता है उद्योगपति पूंजीपति मशीनीकरण से सुविधा एवं लाभ होता है इसका मुनाफा तो पड़ता ही है साथी श्रमिकों के नियोजन से संबंधित समस्या से छुटकारा मिल जाती है इस प्रकार मशीनीकरण से बेरोजगारी की स्थिति उत्पन्न होती है भारत जैसे जनसंख्या बहुल देशों में जहां प्रचुर मात्रा में मौजूद है मशीनीकरण के कारण लोगों का रोजगार प्रभावित हुआ है मशीनीकरण के आरंभिक सही हस्तशिल्प एवं कुटीर उद्योग लघु उद्योग एवं अन्य परंपरागत स्थानीय उत्पादन प्रणालियों को भी हुआ है इस प्रकार मशीनीकरण बेरोजगारी की ओर ले जाता है





मशीनीकरण से कई लाभ है





जैसे अपेक्षाकृत कम समय में अधिक मात्रा में गुणवत्तापूर्ण उत्पादन फलन सृजन लाभ की मात्रा में वृद्धि भारी मात्रा में उत्पादन हुआ उच्च गुणवत्ता के कारण आयात निर्यात एवं प्रबंधन इत्यादि के क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर नए रोजगार का अवसर मशीनों के निर्माण के रखरखाव संचालन में रोजगार अवसर मशीनीकरण से राष्ट्रीय आर्थिक विकास में हुई वृद्धि से सभी के जीवन पत्थर की गुणवत्ता में परिवर्तन





निष्कर्ष कहा जा सकता है की मशीन से एक और श्रमिकों की और बेरोजगारी की दशा उत्पन्न होती है तो दूसरी ओर राष्ट्रीय आय में वृद्धि एवं रोजगार के नए अवसर प्राप्त होता है