Header Ads

रोलेट एक्ट क्या है कारण क्या था

रौलट एक्ट काला कानून के नाम से जाना जाता है इसके तहत संदेह के आधार पर किसी को गिरफ्तार किया जा सकता था रोलेट एक्ट की शुरुआत 1919 को र्ब्रिटिश सरकार द्वारा किया गया था रॉलेक्ट एक्ट के विरोध इस कानून में किसी को संदेह के आधार पर राजनीतिक गतिविधियों और राजनीतिक कैदियों को 2 साल तक बिना मुकदमा चलाए जेल में बंद रखने का अधिकार मिल गया था ऐसे अन्य अन्याय पूर्वक कानून के खिलाफ अहिंसक ढंग से नागरिक अवज्ञा चाहते थे इसीलिए 6 अप्रैल को हड़ताल शुरू हुआ इसमें रेलवे वर्कशॉप में काम का हड़ताल पर चले गए दुकानें बंद हो गए बहुत सारे ऐसे धरना होने लगे इसके विरूद्ध रौलट एक्ट के विरोध ही जब एक साथ चल रही थी जालियांवाला बाग में 10 अप्रैल 1919 को यहां को अमृतसर में जालियांवाला बाग में आयोजित किया गया था इस सभा को

जनरल ओ डायर ने 13 अप्रैल 1919 निहत्थे गोलियां चलवा दी जिसमें हजारों लोग मारे गए और हजारों घायल हुए